ऐसी वैसी औरत -ए मस्ट रीड बुक

नये समाज को बारीक चश्मे से देखती किताब! घने बादलों के बीच चमकती बिजली देखने में जितनी अच्छी लगती है गिरने पर उतनी ही विनाशकारी….हम सबके जीवन में कुछ ऐसी ही कहानियां छुपी या जुड़ी होती हैं जिन्हें या तो दफ्ना दिया जाता या समय के साथ सज़ा भुगतने को छोड़ दिया जाता है! मगर लाचारी, कमज़ोरी, हवस और बहकावे के चलते कई बारे चीज़ें इतनी बदतर हो जाती हैं कि उनसे पार पाना आसान नहीं होता…
ऐसी वैसी औरत‘ किताब के शीर्षक की सार्थकता प्रत्येक कहानी में है….हर कहानी की प्रधान एक महिला किरदार और कहानियां उसकी ज़िन्दगी से जुड़ी या होती घटनाओं की हैं जिनको सलीके से….सार्थक और वास्तविक शब्द चयन के धागों में पिरोया गया है! इरम, पूजा, शैली, मीरा, सना, काकू, ज़ुबी, शिखा सबकी अलग कहानी और सबके साथ सामाजिक और सदियों से चली आ रही एकतरफा कार्रवाही….के खिलाफ चुपचाप अपनी बात रखती किताब को पढ़ना ज़रूरी भी है और समझदारी भी….जागरण बेस्टसेलर से फुरसत मिलने पर इस किताब को ध्यान से देखें ज़रूर….
किताब के शीर्षक के बाद ये तो उम्मीद थी कि किरदारों में सकारात्मक पुरुषप्रधान उपस्थिति शायद न हो मगर #उसकी_वापसी_का_दिन से हम जुड़ सके क्योंकि शायद भाव जुड़ते से दिखे! किताब की सफलता और भविष्य में इससे भी अच्छी और व्यापक स्तर पर लिखी जाने वाली अनेकानेक कहानियों के लिये आपको शुभकामनायें….
#यूट्यूब पर #जनरल_डिब्बा को भी लाइक और सब्सक्राइब करना न भूलें जहां अंकिता जैन बहुत अच्छी और सच्ची कहानियाँ सुनाती हैं….
#अंकित_बाजपेई🙏

#ऐसी_वैसी_औरत_A_Must_Read_Book

One comment

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *