मैं किंडल पर क्यों पढता हूँ?

आप किंडल पर क्यों पढ़ें यह आपका व्यक्तिगत मामला है। इस बारे में मैं कुछ नहीं बोल सकता। ये बताता हूँ कि मैं क्यों पढ़ता हूँ। मेरी किताबों से पहचान शैशव में हुई थी। पिताजी वयस्क शिक्षा में पर्यवेक्षक थे तो उनके पास बड़े बड़े कैलेंडर जैसे चार्ट थे अक्षर ज्ञान के लिये। कुछ चार्टों को लाकर पिताजी ने घर […]

Read more

गौतम राजऋषि जी का स्वागत करें

यह हमारा सौभाग्य है कि हमारी वेबसाइट से आज बेहद चर्चित, उम्दा और अनुभवी लेखक और कवि गौतम राजऋषि जी जुड़े हैं. जब मैंने पहले पहल गौतम जी की ग़ज़लें फेसबुक पर पढ़ीं तो मेरा अपने भाग्य पर इतराना लाज़मी था कि इतने उम्दा शायर मेरे फेसबुक मित्र हैं. फिर उनसे दिल्ली विश्व पुस्तक मेले में मुलाकात हुई और उनके […]

Read more